Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

जवा फूल चाउर के रकबा बढ़ाये बर बनत हावय किसान मनके संगठन : कलेक्टर श्री सिंह


अंजोर.रायगढ़, 8। रायगढ़ जिला के पहचान लैलूंगा के जवा चाउर के महक देश-प्रदेश म दूर तक पहुंचे येकर बर अब उपज बढ़ाये के संग येकर बड़े रूप म मार्केटिंग के दिशा म काम शुरू करे जावत हाबे। ये बात के आरो जिला कलेक्टर श्री सिं‍ह कोति ले मिले हाबे। कलेक्टर के मार्गदर्शन म एफपीओ (किसान उत्पाद संगठन) बनाके जवा फूल के खेती करइया किसान मनला जोड़े जाही। कलेक्टर श्री सिंह ह लैलूंगा के पहाड़ लुढेग अऊ आन इलाका म पहुंच के उहां जवा फूल चाउर के खेती ल देखिन अउ किसान मनले चर्चा तको करिन। 

ये मउका म विधायक लैलूंगा चक्रधर सिंह सिदार अउ जिला पंचायत सीईओ सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी तको रिहिन। गोठबात म किसान मन बताइन के येकर बने बाजार नइ मिले के सेती स्थानीय व्यापारी मनला ही चाउर बेचे बर परथे जेकर ले लागत के मुताबिक आमदनी नइ होवय। ये सेती अब अधिकतर किसान दूसरा किस्म के चाउर के खेती करत हाबे। ये चाउर के मांग तो हाबे लेकिन फसल के कीमत नइ मिले के सेती येकर रकबा बहुत कम होगे हाबे। कृषि विभाग के अधिकारी के बताये मुताबिक अभी विकासखण्ड म लगभग 215 हेक्टेयर म जवा फूल चाउर के खेती करे जावत हाबे।

कलेक्टर श्री सिंह ह किसान मनला बताइन के एफपीओ ले जुरे ले दोहरा लाभ होही। एक कोति खेती बर बीज, खाद, दवाइ अउ कृषि यंत्र के साथ उन्नत कृषि तकनीक के जानकारी तको मिलही, त दूसरा को‍ति ओमन ल सीधा बाजार ले जोड़े जाही। येकर बर इहां के चाउर के ब्रांडिंग के करे जाही अउ ओला मार्केट म बेचे के एक व्यवस्थित सप्लाई चेन बनाये जाही। जेकर ले किसान के उत्पादन बढ़ही अउ ओमन मनला अपन फसल के सही कीमत मिलही। अऊ ये सबो काम एफपीओ के तहत होही, ये अंचल के चाउर ले अलग चिनहारी तको बनही। ये मउका म कलेक्टर श्री सिंह ह लैलूंगा विकासखण्ड के पहाड़ लूडेग गांव म किसान संतोष के घर जाके पारंपरिक तरीका ले ढेकी म धान के कुटाई ल तको देखिन। आगू ओमन चाउर के स्थानीय स्तर म ही मिलिंग बर कृषि विभाग के अधिकारी ल एक मिनी मिलिंग यूनिट प्रदान करे के निर्देश तको दीस।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285