Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

धान खरीदी व्यवस्था के समीक्षा करिन खाद्य मंत्री श्री भगत, आन राज के धान ल रोके के कड़ा इंतजाम


अंजोर.रायपुर। मंत्रालय महानदी भवन म धान खरीदी के व्यवस्था के समीक्षा बइठका के आयोजन करे गे रिहिस। जेमा खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ह अधिकारी मन ले किहिन के धान खरीदी शुरू होए के पहिली खरीदी खातिर बारदाना, चबूतरा निर्माण, किसान के सुविधा के सबो जरूरी व्यवस्था कर लेवा। कांटा-बाट के समुचित व्यवस्था अउ ओकर सत्यापन तको करा लेवय। श्री भगत ह राज्य के सीमावर्ती जिला के कलेक्टर ले फोन म धान खरीदी के संबंध म बातचीत करके किहिन के आन राज के अवैध धान ल रोके खातिर कड़ा इंतजाम करय।

एजेंसी ले मिले आरो के मुताबिक राज्य स्तर म खाद्य विभाग सहित धान खरीदी ले संबंधित विभाग के अधिकारी मनके एक दल गठित करे जाही। जोन राज्य भर के खरीदी केन्द्र म जाके धान खरीदी के निरीक्षण अउ मोनिटरिंग करही। खास करके सीमावर्ती जिला म जाके अवैध धान के आवक ल रोके खातिर करे गे इंतजाम के निरीक्षण करही।

राज्य सरकार कोति ले भारत सरकार ल छत्तीसगढ़ म खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 म किसान मनके धान खरीदी खातिर 3 लाख 50 हजार गठान बारदाना उपलब्ध कराये के आग्रह करे गे हावय। भारत सरकार कोति ले छत्तीसगढ़ ल आपूर्ति होवइया बारदाना म 50 प्रतिशत के कटौती करत हुए केवल एक लाख 43 हजार गठान नवा बारदाना के आपूर्ति करे के सूचना जूट कमिश्नर के माध्यम ले मिले हाबे अउ अब तक राज्य ल केवल 77 हजार गठान बारदाना ही मिले हाबे।

भारत सरकार बारदाना के आपूर्ति म भारी कटौती करत हाबे ये सेती राज्य म धान खरीदी प्रभावित झिन होवे ये सेती राज्य सरकार डहर ले 70 हजार एचडीपीई, पीपी के नया बारदाना खरीदी के कार्यादेश जारी करे गे हावय। येकर अलावा पीडीएस सिस्टम के एक लाख गठान बारदाना अउ मिलर मनले दो लाख बारदाना के पूर्ति धान खरीदी खातिर करे जाही। श्री भगत के मुताबिक खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 म लगभग 90 लाख मैट्रिक टन धान खरीदी होना अनुमानित हावय। धान उपार्जन खातिर 4 लाख 75 हजार गठान बारदाना के आवश्यकता संभावित हावय।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285