Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

होम आइसोलेशन मैनेजमेंट म दुर्ग के मॉडल गजब कारगर, कंट्रोल रूम म केस हिस्ट्री, कंसलटेशन, मेडिकल कांपलिकेशन के निगरानी ले 3608 मरीज स्वस्थ


अंजोर.दुर्ग,26। कोविड-19 पॉजिटिव आए के बाद कतकोन मरीज अब घरे म होम आइसोलेशन म रहिके बने होवत हाबे। दुर्ग जिला म येकर बर कलेक्टर के दिशा‍ निर्देश म जबर तरीका ले काम करे जावत हाबे। मिले आरो के मुताबिक बिगर लक्षण वाले मरीज ल अंडरटेकिंग अउ डॉक्टर के अनुमति के बाद होम आइसोलेशन म रेहे के अनुमति दे जाथे। सरलग मेडिकल सुपरविजन अउ आपात स्थिति म रिस्पांस टीम के लघियात तइयारी के सेती दुर्ग म होम आइसोलेशन मैनेजमेंट मॉडल सफल होवत हाबे। 4862 मरीज होम आइसोलेशन म रिहिन जेमा 3608 स्वस्थ होगे हावय। 

कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे जी ह होम आइसोलेशन कंट्रोल रूम के जिम्मेदारी डिप्टी कलेक्टर डॉ. रविराज ठाकुर अउ मेडिकल कंसल्टेशन के जिम्मेदारी डॉ. रश्मि भुरे ल सउपे हावय। कंट्रोल रूम ले आपात स्थिति म मरीज लाना, मेडिकल किट, घर म मेडिकल टीम भेजना, मेडिकल सलाह टीम, केस हिस्ट्री अउ रिफर तय करना, सब एक टीम वर्क के तहत चलत हाबे। अऊ ये सब के आरो स्वयं बेरा-बेरा म कलेक्टर साहेब लेवत रिथे, ताकि कोनो आपात स्थिति म तुरते फइसला करे जा सकय। 

सफलता के कई केस देखे बर मिलिस जेमा अचानक बुखार बाढ़हे अउ आक्सीजन लेवल कम होए म मरीज गंजपारा निवासी बलराम ल तुरते शंकराचार्य हॉस्पिटल म शिफ्ट करे के निर्णय लिये गिस अऊ अब वो अब इलाज के बाद बने होगे घर म हावय। अइसने भिलाई निवासी इंद्रमोहन ल सीना म दर्द के शिकायत अउ आक्सीजन लेवल कम होए म कंट्रोल रूम ह रिफर करे के निर्णय लिस अउ अब वोहू पूरा स्वस्थ हावय। अउ चरौदा निवासी अजय श्रीवास्तव ल स्टाफ नर्स ह 20 सितंबर के बातचीत म सांस ले म परेशानी बताइन। स्टाफ नर्स गंभीरता ले लेवत मेडिकल ऑफिसर ले बात कराईन अउ ओला तुरते कंचादुर के कोविड केयर सेंटर म एडमिट कराइन। अइसे ढंग ले दुर्ग के होम आइसोलेशन मैनेजमेंट काम करत हाबे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285