Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

विधानसभा के मानसून सत्र के पहिली दिन दिवंगत नेता अउ शहीद जवान मनके श्रद्धांजलि ले सुरू होइस

रायपुर.25। छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र के पहिली दिन आज सदन म छत्तीसगढ़ के पहिली मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी, पूर्व मंत्री स्वर्गीय श्री डेरहू प्रसाद धृतलहरे, अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री श्री बलिहार सिंह, लोकसभा के पूर्व सांसद स्वर्गीय श्रीमती रजनीगंधा देवी अउ भारत-चीन सीमा म हुई हिंसक झड़प म शहीद जवान, नक्सल हिंसा म शहीद जवान मनला श्रद्धांजलि दे गिस। सदन के कार्यवाही के शुरूआत म विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ह दिवंगत नेता मनके व्यक्तित्व, कृतित्व अउ उंकर योगदान के उल्लेख करिन अऊ सम्मान म दू मिनट के मौन श्रद्धांजलि दे गिस। 

ये मउका म मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह स्वर्गीय श्री अजीत जोगी ल श्रद्धांजलि देवत किहिन के छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री श्री जोगी बहुमुखी प्रतिभा के धनी रिहिस। वो जीते जी किवदंती बन गे रिहिस। मरवाही जइसन सुदूर अंचल ले निकल के राष्ट्रीय राजनीति म सक्रिय होना उंकर जीजीविषा अउ सक्रियता के परिचायक हाबे। वो चाहे सत्ता म या विपक्ष म रहे हो प्रदेश के राजनीति उंकरे तिर रेहे हाबे। जबर वित्तीय प्रबंधन के साथ छत्तीसगढ़ के अर्थव्यवस्था के मजबूत नींव रखे से‍ती आज छत्तीसगढ़ के आन गठित राज्य के तुलना म तेजी ले विकास होए हाबे।

आगू श्री बघेल ह श्री जोगी, पूर्व मंत्री श्री डेरहू प्रसाद धृतलहरे, पूर्व मंत्री श्री बलिहार सिंह, पूर्व सांसद स्वर्गीय श्रीमती रजनीगंधा देवी ल सादर सुरतांजलि दे के बाद भारत-चीन सीमा म हुई हिंसक झड़प म छत्तीसगढ़ के शहीद जवान श्री गणेश कुंजाम संग आन सबो शहीद जवान अउ कोरोना ले जान गवाये लोगन ल तको श्रद्धांजलि दीस।

सदन म नेता प्रतिपक्ष सर्वश्री धरमलाल कौशिक, धर्मजीत सिंह, केशव चंद्रा, अजय चंद्राकर, अमरजीत भगत, कवासी लखमा, मनोज मंडावी, बृजमोहन अग्रवाल, शैलेश पाण्डेय, डॉ. रमन सिंह, टी.एस. सिंहदेव, मोहम्मद अकबर, नारायण चंदेल, अमरजीत भगत अउ रविन्द्र चौबे मन तको दिवंगत नेता मनला श्रद्धांजलि दीस। ये मउका म डॉ. श्रीमती रेणु जोगी ह तको स्वर्गीय श्री जोगी के व्यक्तित्व अउ कृतित्व के बखान करत दिवंगत नेता मनला सादर श्रद्धांजलि अर्पित करिन

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285