Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

लोक गायिका मोक्षदा (ममता) चंद्राकर ह इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय के कुलपति के म रूप लिस पदभार


खैरागढ़.24। इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ के कुलपति के रूप म प्रदेश के सुप्रसिद्ध लोक गायिका श्रीमती मोक्षदा (ममता) चंद्राकर ह पदभार लीस। ये मउका म विश्वविद्यालय के पदेन कुलपति डॉ. मांडवी सिंह ह नवा कुलपति के सुवागत करत कार्यालय म उनला कार्यभार सउंपिन। 

जानबा होवय के इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय ह प्रदेश ही नहीं देश म तको बड़का नाम आए। येकर स्थापना खैरागढ़ रियासत के 24वां राजा विरेन्द्र बहादुर सिंह अउ रानी पद्मावती देवी ह अपन राजकुमारी 'इन्दिरा' के नाम म ओकर जनमदिन 14 अक्टू्बर 1956 के करिन हाबे। केहे जाथे के राजकुमारी ल संगीत के गजब शौक रिहिसे, फेर असमय मउत के बाद ओकर सुरता म राजा साहब अउ रानी साहिबा ह संगीत विश्वविद्यालय शुरू करके नाव ल अमर कर दिस।

इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ म अब कुलपति के रूप म प्रदेश के लोक गायिका श्रीमती ममता चंद्राकर के नियुक्ति कलाकार मनबर तको खुशी के बात आए। डॉ. मांडवी सिं‍ह ह तको उंहचे पढ़के मास्टर ले कुलपति पद तक पहुंचिन, अऊ ममता चंद्राकर तको उही विश्वविद्यालय म सन 1980 के दशक म संगीत के पढ़ाई करे हाबे। अब उहा कुलपति बनना एक सुखद संयोग आए। प्रदेश के लोककला ल शिखर तक पहुंचाये म ममता जी के जबर योगदान हावय इही सेती भारत सरकार कोति ले उनला पद्मश्री ले नवाजे जा चुके हाबे। ओमन ह लंबा समय तक आकाशवाणी के केन्द्र निदेशक के रूप म तको सेवा दे हाबे। अइसन विभूति मनके कुलपति बने ले अब निश्चित ही खैरागढ़ विश्वविद्यालय म कला अउ संगीत के नवा बानगी देखे बर मिलही। 

कोरोना राई ल देखत पदभार ग्रहण के सादा कार्यक्रम म इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ के कुछ ही कलागुरू मनके उपस्थिति म नवा जिम्मेदारी ल संभालिस। ये मउका म पद्मश्री ममता चंद्राकर जी ल जाने माने फिल्ममेकर दाऊ प्रेम चंद्राकर, अशोक तिवारी, शशीमोहन सिंह, संतोष जैन, राकेश तिवारी, चंद्रशेखर चकोर, पुष्पेन्द्र सिंह, प्रकाश अवस्थी, विजय चंद्राकर, कुलेश्वर ताम्रकार, दुष्यंत हरमुख, रजनी रजक, योगेन्द्रे चौबे, अनुपम वर्मा, जयंत साहू, जागेश्वरी मेश्राम अउ चंद्रभूषण वर्मा के अलावा तमाम बड़े लोक कलाकार मन बधाई दे हाबे।


इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ म पढ़ाई के बखत के फोटो- श्रीमती ममता चंद्राकर अउ लता मंगेशकर जी



श्रीमती ममता चंद्राकर अउ फिल्ममेकर दाऊ प्रेम चंद्राकर जी के सुघ्घर जोड़ी


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285