Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

आंगनबाड़ी केंद्र, राम वन गमन पथ, स्कूल, गौठान परिसर, तालाब अउ सड़क तिर करे जाही वृक्षारोपण

रायपुर.02। राज्य म बड़े स्तर म वृक्षारोपण के लक्ष्य राखे गे हावय। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह वृक्षारोपण के बाद पौधा मन के सुरक्षा के इंतजाम करे के निर्देश तको दे हाबे। प्रदेश के आंगनबाड़ी केंद्र, राम वन गमन पथ, खाली परे सरकारी भूमि, स्कूल, गौठान परिसर सहित तरिया अउ सड़क के तिर वृक्षारोपण करे जाही। राज्य के अकेल्ला जांजगीर-चांपा जिला म नौ लाख ले जादा पौधा लगाए के लक्ष्य हावय। जिला प्रशासन ले मिले आरो के मुताबिक 06 जुलाई ल जिला के विभिन्न स्थान म एक साथ वृहद वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित करे जाही। कलेक्टर ल पंचायत, उद्यानिकी, रेशम, कृषि सहित संबंधित विभाग ल येकर पूर्व तैयारी करे के निर्देश दे हाबे। सबो संबंधित विभाग नर्सरी ले पौधा प्राप्त कर चयनित स्थान म गड्ढा, सिंचाई व्यवस्था, पानी अउ सुरक्षा के व्यवस्था उक सुनिश्चित करे हावय। येकर अलावा लोगन ल घर म लगाये खातिर पौधा उपलब्ध कराए हाबे। 

आहता वाला स्कूल म मुनगा, पपीता, सीताफल, गुलमोहर, कदम के पौधा लगाए जाही। येकर अलावा लक्ष्य के अनुसार वन गमन पथ, सड़क, नहर, तालाब पार, गौठान, सड़क किनारे तको वृक्षारोपण करे जाही। वृक्षारोपण म मिट्टी की अनुकूलता, सिंचाई व सुरक्षा व्यवस्था ल भी विशेष ध्यान देवत हावय। भूमि के अनुकूलता के अनुसार औषधी गुण वाला पौधा प्राथमिकता ले लगाए जाही। गौठान के फेंसिंग म करौंदा अउ मेहन्दी के पौधा लगाए जाही। पौधा के बड़े होए म करौंदा फल अउ मेहंदी पावडर गौठान समिति के आय के स्रोत भी बनही। उप संचालक कृषि ह बताइन के राष्ट्रीय बांस मिशन के तहत किसान मन के खेत के परिधि म ये साल वर्ष 45 हजार 750 पौधा लगाए के लक्ष्य हावय जेमा ले 16 हजार ले अधिक बांस के पौधा लगाए जा चुके हाबे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ