Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

‘गोधन न्याय योजना’ म गोबर बिसाये के फैसला ले सोशल मीडिया म लपर-लइया के मातगे हाबे निच्चट गईरी

रायपुर.27। छत्तीसगढ़ सरकार ह किसान मनके गौठान ले गोबर बिसाये के जबर फैसला करे हाबे। बताये मुताबिक गौठान के गोबर ल बिसा के उंकर ले खातू बनाके बेचे जाही। येकर ले गांव के लोगन मनके आर्थिक दशा सुधरही अउ रोजगार तक मिलही। सरकार ह ये योजना ल हरेली तिहार के दिन ले सुरू करइया हाबे। फेर ओकर ले आगू प्रदेश के राजनेता मन सोशल मीडिया म आन के तान कर हाबे। अब तो बात ह एफआईआर तक पहुंचगे हावय।


प्रदेश के पूर्व मंत्री ह तो अपन आधिकारिक ट्विटर ले इहा तक कहे हाबे के सरकार म गोबर के महत्ता ल देखत येला तो राजकीय प्रतीक चिन्ह बना देना चाही। ये शब्द आए प्रदेश के पूर्व मंत्री अउ वर्तमान विधायक के जेन नियम कानून अउ गांव के लोक संस्कृति के जानकार हाबे। विधायक के ये बयान के बाद न केवल कांग्रेस के मंत्री, विधायक अउ कार्यकर्ता बल्कि आम जन तको नाराज हाबे। इही बात ल लेके एफआईआर अउ गिरफ्तारी के मांग तको उठत हाबे। गांव अउ प्रदेश के अर्थव्यवस्था सुधारे खातिर सुनता-सुनाह के बजाये सोशल मीडिया म गईरी मताये ले कुछू नी होवे। आखिर म जेन गउ माता चाहि तेने होही... 'गोबरधन'।



No comments:

Post a Comment

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

Name

Email *

Message *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ