Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

गीत संगीत म रमगे कलाकार डॉ. पुरूषोत्तम चंद्राकर

लॉकडाउन म बखत काटे के छत्तीसगढ़ के कलाकार मन बने उदीम जोंगे हाबे। कोनो गीत-कहानी ​लिखत हाबे, त कोनो गायन अउ संगीत के साधना करत हाबे। ठउका बेरा म रामायण, महाभारत धारावाहिक तको शुरू होगे जेन आज आमजन ल प्रेरित करत हाबे।
रामायण धारावाहिक ले प्रेरणा लेके आजकाल लोक कलाकार डॉ. पुरूषोत्तम चंद्राकर ह अपन घरे म ही लॉकडाउन के पालन करत संगीत साधना म लीन हावय। चंद्राकर जी रोज रामायण देखथे अउ तुरते गीत के सिरजन करथे। कथा प्रसंग अनुसार गीत गढ़े के महारत के संगे-संग चंद्राकर जी ह हारमोनियम बजावत सहस्वर गीत ल गा के सोशल मीडिया म अपलोड करके दूसरो बर मिसाल बनत हाबे। जानबा होवय कि डॉ. पुरूषोत्तम चंद्राकर जी बड़ जुन्ना लोक कलाकार होए के संग एक बड़का रंगकर्मी तको आए। ओमन मशहूर लोक कलाकार राकेश तिवारी के कई नाटक म अभिनय करे हाबे। लोक कलामंच के माध्यम ले जनजागरण के काम करने वाला डॉ. पुरूषोत्तम चंद्राकर ह देश म सचरे वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण ले बांचे खातिर स्वयं लॉकडाउन के पालन करत हाबे अउ दूसरो ल घरे म रहे के सुघ्घर संदेश देवत हाबे।SM_T/C

देखव डॉ. पुरूषोत्तम चंद्राकर जी गाये ये सुघ्घर गीत-


किस्सा कहिनी

Contact Us

Name

Email *

Message *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ