Home News Contact About

विज्ञापन खातिर आरो करव-

jayantsahu9@gmail.com
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

बस्तर के युवा सीखत हाबे आधुनिक तरीका ले पारंपरिक गोदना कला

बस्तर के युवा सीखत हाबे आधुनिक तरीका ले पारंपरिक गोदना कला

बस्तर। अपन परम्परा अउ रिवाज़ खातिर बस्तर विश्वभर म परसिध हावय। आदिवासी संस्कृति म जिहां प्रकृति ले जुड़ाव दिखत हावय उहें उंकर संस्कृति म सृजनशीलता अउ सौंदर्यबोध के मौलिकता तको हावय। गोदना कला तको इही म ले एक हावय। गोदना आर्ट बस्तर के परम्परा अउ लोकजीवन के एक जरूरी हिस्सा हावय। अइसे मान्यता हावय के गोदना मृत्यु के बाद अपन पूर्वज ले संपर्क के माध्यम हावय। आधुनिकीकरण के तेजी ले बदलते समय म बस्तर के पारंपरिक कला के बचाए रखे के उद्देश्य ले मुख्यमंत्री बघेल डहर ले बस्तर के आसना म बस्तर एकेडमी ऑफ डांस, आर्ट एंड लेंग्वेज (बादल) के स्थापना तको करे गे हावय, जिहां बस्तर के गोदना कला के संरक्षित करे अउ स्थानीय युवा मन के गोदना के नवा उभरते ट्रेंड्स ले परिचित, प्रशिक्षित करे के खातिर बादल म गोदना कला म प्रदेस के पहिली अउ अनूठा आयोजन होइस।

आदिवासी संस्कृति म जिहां प्रकृति ले जुड़ाव

जिला प्रशासन ह 20 मई ले 6 जून तक आसना बादल एकेडमी म गोदना आर्ट वर्कशॉप के आयोजन करिन, जिहां पेशेवर गोदना विशेषज्ञ डहर ले बस्तर के युवा मन के प्रशिक्षण दिस। वर्कशॉप म बस्तर के अलग-अलग ब्लॉक ले आके युवक-युवती ह गोदना के प्रशिक्षण के संग ही गोदना आर्ट के बारीकी अउ विश्व म उभरत गोदना के ट्रेंड्स म जानकारी लिस। वर्कशॉप म बस्तर के परंपरागत गोदना आर्ट के सांस्कृतिक स्वरूप के बनाए रखत होए ओला आधुनिक तरीका ले बनाये के कला विशेषज्ञ ह बस्तर के युवा मनला सिखाइस। बादल म आयोजित गोदना आर्ट वर्कशॉप म स्थानीय लोगन ह तको उत्साहपूर्वक हिस्सा लिस। वर्कशॉप म 400 ले तको जादा लोगन ह पारंपरिक गोदना आर्ट बनवाया। ए वर्कशॉप म विशेषज्ञ अउ भाग लेवइया मन के प्रोत्साहित करे के खातिर कलेक्टर रजत बंसल ह तको पारंपरिक गोदना करवाइस।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

सियानी गोठ

स्‍वामी/ प्रकाशक/ मुद्रक – जयंत साहू
संपादकीय कार्यालय – डूण्डा, सेजबहार रायपुर, छत्‍तीसगढ़ 492015
सिटी कार्यालय - प्रकाश मोबाईल सेंटर अमलीडीह (पानी टंकी के सामने), रायपुर छत्तीसगढ़
वाट्सअप- 9826753304
ई मेल : jayantsahu9@gmail.com
भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285