Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

संस्कृत विद्यामंडलम् करही विद्वान मनके सम्मान, 20 दिसम्बर तक प्रविष्टि आमंत्रित


अंजोर.रायपुर। छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम् कोति ले बछर 2020 म संस्कृत के क्षेत्र म उल्लेखनीय बुता करइया संस्कृत विद्वान मनके सम्मान करे जाही। जेमा महर्षि वाल्मीकि सम्मान, ऋष्यश्रृंग सम्मान, लोमश ऋषि सम्मान, कौसल्या सम्मान अउ महर्षि वोहादव्यास सम्मान प्रदान करे जाही। महर्षि वेदव्यास सम्मान म 51 हजार रूपिया अउ शेष सम्मान के खातिर प्रत्येक विद्वान ल 31 हजार रूपिया के राशि के संग शाल, श्रीफल, प्रतीक चिन्ह दे जाही। संस्कृत विद्वान के सम्मान के खातिर छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम् कोति ले 20 दिसम्बर तक प्रविष्टि आमंत्रित के गिस हाबे। इच्छुक विद्वान या संस्था अपन आवेदन सचिव छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम् कार्यालय न्यूराजेन्द्र नगर पानी टंकी के पास, छत्तीसगढ़ हाथ करघा कार्यालय के सामने कार्यालयीन अवधि म भेज सकत हाबे। सम्मान प्रस्ताव के विवरण वोहाबसाईट www://cgsvm.cgstate.gov.in म तको उपलब्ध हावय।

छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम् कोति ले हरेक साल 5 संस्कृत विद्वान ल सम्मानित करे के श्रृंखला बछर 2013 शुरू हावय। महर्षि वाल्मीकि सम्मान राज्य अइसन विद्वान या विदुषी ल प्रदान करे हावय जेला संस्कृत म गद्य, पद्य या चंपू म नवा रचना करे होही। ऋष्यश्रृंग सम्मान राज्य के गैर सरकारी या स्वैच्छिक संस्था या व्यक्ति ल दे जात हावय जोन संस्कृत के प्रचार-प्रसार म लगे होही। लोमश ऋषि सम्मान राज्य के अइसे संस्कृत अध्यापक ल प्रदान करे जाथे जेन प्राच्य संस्कृत विद्यालय म संस्कृत शिक्षा के क्षेत्र म उत्कृष्ट कार्य करत होही। कौसल्या सम्मान राज्य स्तर के संस्कृति विदुषी ल दे जाथे अउ महर्षि वोहादव्यास सम्मान संस्कृत विद्यामंडलम् ल व्यापक स्तर म बौद्धिक सहयोग प्रदान करइया ल अखिल भारतीय स्तर के एक संस्कृत विद्वान ल प्रदान करे जाथे।

छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम् के सचिव ह बताइन के आवेदक ल संबंधित सम्मान के खातिर सम्मान के नाम अउ वर्ष, व्यक्ति या संस्था के पूर्ण परिचय पत्र व्यवहार पता सहित, संबंधित सम्मान के खातिर प्रमाणित विवरण, यदि कोनो पुरस्कार या सम्मान प्राप्त करे होही तव ओकर विवरण, चयन होए के दशा म सम्मान ग्रहण करे के संबंध म आवेदक के सहमति दो पासपोर्ट फोटोग्राफ के संग लिफाफा म सम्मान अउ वर्ष के उल्लेख करत संस्कृत विद्यामंडलम् के कार्यालय म जमा या डाक ले भेज सकत हाबे। सम्मान के खातिर प्रविष्टि प्रस्तुत करइया के कार्य क्षेत्र छत्तीसगढ़ होना चाहि। सचिव ह यहू बताये हाबे के संस्कृत विद्यामंडलम् ले सम्मान पइया विद्वान पुनः आवेदन झिन करय। इच्छुक विद्वान ये संबंध म संस्कृत विद्यामंडलम् के दूरभाष 0771-4001733 ले संपर्क करके जानकारी प्राप्त कर सकत हाबे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285