Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

बुधारू, ओमू, बैजू अउ भूरी जइसे देसी नस्ल के स्निफर डॉग 20 फीट दूर ले तको आईईडी ल सूंघ लथे


अंजोर.बस्तर। पुलिस के कार्यप्रणाली तको अब समय के संग बदलत हावय। हाईटेक के दौर म हाईटेके अऊ देसहा म तको जबर बुता करत हाबे। कोनो अंधा अपराध के केस म जेन बड़का सुराग खोजे के उदीम म काम आथे वो हावय पुलिस विभाग के प्रशिक्षित कुकुर। जेन ह सूंखिवात अपराधी तक पहुंच जथे। येकर अलावा ओमन बम के पता तको लगा लेथे। 

कही कड़ी म बस्तर के जोखिम भरे रस्ता ल महफूज बनाये के खातिर सुरक्षा बल के मदद करे म डॉग स्क्वॉड के भूमिका तको जबर हावय। जेमा बुधारू, ओमू, बैजू अउ भूरी जइसे देसी नस्ल के स्निफर डॉग 20 फीट दूरिहा ले तको आईईडी के पता सूंघ करके लगा लेत हाबे। विदेशी नस्ल के साथ-साथ ये देशी नस्ल के स्निफर डॉग तको आईईडी के पता लगाये म पूरा सक्षम हाबे। मिले आरो के मुताबिक ये स्निफर डॉग हर साल औसतन 140 ले अधिक आईईडी के पता लगाथे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285