Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

दाई-दीदी मोबाईल क्लीनिक ले महिला मनला होवत हाबे इलाज म सहूलियत


अंजोर.बिलासपुर। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना गरीब महिला मन खातिर संजीवनी साबित होवत हावय। डॉक्टर अउ अस्पताल के सुविधा अपन घर के लकटा म पाके महिला मन खुश हाबे। बिलासपुर म पायलट आधार म महिला मनके खातिर शुरू करे विशेष दाई-दीदी क्लीनिक योजना ले अब घर बइठे ओमन ल अस्पताल के सुविधा निःशुल्क मिलत हावय। दाई-दीदी क्लीनिक म सबो स्टाफ महिला होए के कारण इलाज करइया महिला मन बेझिझक अपन समस्या ओमन ला बतावत हाबे।

शहर के ईमलीभाठा स्लम एरिया म दाई-दीदी क्लीनिक म इलाज कराये बर आए 55 वर्षीय श्रीमती शांति साहू विगत कई दिन ले दांत दर्द ले परेशान रिहिस। आज वो इहां इलाज कराये बर आये रिहिसे संग म ओमन बी.पी अउ शुगर के तको जांच कराइस। ओमन बताइन के सब जांच जल्दी-जल्दी हो गे अउ दवाई तको मिलगे। ओमन किथे के कभू सोचे नइ रिहिन के एक दिन अइसन बेरा आही के डॉक्टर अउ अस्पताल खुद चलकर घर तक आही। 

35 वर्षीय श्रीमती सुमित्रा फातोड़े इहां ब्लड टेस्ट कराये बर अइसे, ओ किथे के जांच के संग ही रिपोर्ट तको तुरंते मिलगे। ये मोबाईल क्लीनिक म सबो स्टॉफ महिला हाबे येकर सेती बिगर कोनो झिझक के अपन स्वास्थ्यगत समस्या बता सकत हाबन। श्रीमती ललिता बंजारे तको अपन इलाज कराये बर आइन। वो किथे के अब हमन ला अस्पताल के चक्कर लगाये के जरूरत नइये। 

मिले आरो के मुताबिक दाई दीदी क्लिनिक म महिला मनके प्राथमिक उपचार के साथ-साथ महिला चिकित्सक कोति ले स्तन कैंसर के जांच, हितग्राही मनके स्व-स्तन जांच के प्रशिक्षण, गर्भवती महिला मनके नियमित अउ विशेष जांच के अतिरिक्त सुविधा दे जात हावय। मोबाईल क्लीनिक म 4 महिला मेडिकल स्टॉफ हाबे। जेमा 1 डॉक्टर, 1 फार्मासिस्ट, 1 नर्स अउ 1 लेब टेक्निशियन शामिल हाबे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285