Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

जशपुर पुरातत्व संग्रहालय के अवलोकन करिन सरगुजा कमिश्नर सुश्री जिनेविवा किण्डो


अंजोर.अम्बिकापुर,10। सरगुजा कमिश्नर सुश्री जिनेविवा किण्डो ह जशपुर के पुरातत्व संग्रहालय के निरीक्षण करत पुरातात्विक धरोहर के जानकारी लीस। ओमन अधिकारी मनला संग्रहालय के सुरक्षा व्यवस्था अउ देखरेख के संग जिला के ऐतिहासिक अउ पुरातात्विक धरोहर ल संरक्षित करे के जरूरी दिशा निर्देश दिस।

पुरातत्व संग्रहालय जिला खनिज न्यास निधि संस्थान कोति ले 25 लाख 85 हजार के लागत ले संग्रहालय ल नया मूर्त रूप दिए गे हावय। संग्रहालय के लाभ जशपुर जिला के आस-पास के विद्यार्थी ल मिलही। संग्रहालय म बिरहोर, पहाड़ी कोरवा, असूर जनजाति, उरांव, नगेशिया, कवंर, गोंड, खैरवार, मुण्डा, खड़िया, भूईहर, अघरिया आदि 13 जनजातिय के जुन्ना  जिनिस ल संजो के राखे गे हावय। संग्रहालय म तीन कमरा अउ एक गैलरी म पुरातात्विक समान ल संरक्षित करके राखे गे हावय।

संग्रहालय म लघु पाषाण उपकरण, नवपाषाण उपकरण, एतेहासिक उपकरण ल राखे गे हावय। येकर अलावा भारतीय सिक्का 1835 ले 1940 के सिक्का ल संग्रहित करे गे हावय। संग्रहालय म मृद भांड, कोरवा जनजाति के डेकी, आभूषण, तीर-धनुष, चेरी, तवा, डोटी, हरका, प्रागैतिहासिक काल के पुरातत्व अवशेष के शैलचित्र अउ जशपुर शैल चित्र के फोटोग्राफ्स, अनुसूचित जनजाति के सिंगार के सामान चंदवा, माला, ठोसामाला, करंजफूल, हसली, बहुटा, पैरी, बेराहाथ आदि ल संरक्षित करे गे हावय। 

ये मउका म कलेक्टर महादेव कावरे, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के.एस.मण्डावी, अपर कलेक्टर आई.एल.ठाकुर, जशपुर एसडीएम आकांक्षा त्रिपाठी, एनईएसपीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. विजय रक्षित, राजा विजय भूषण सिंह देव कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य देवनिश मिंज जशपुर जनपद सीईओ प्रेम सिंह मरकाम सहित आन अधिकारी उपस्थित रिहिन।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285