Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

बीजापुर के गांव कोमला के नोनी अंजली कुडि़यम ल सोनू सूद किहिस ‘आंसू पोंछ ले बहिनी, किताब भी नवा होही, घर भी नवा होही...’

बीजापुर.20। छत्तीसगढ़ के वनांचल जिला बीजापुर के गांव कोमला म आए बाढ़ ले अपन टूटे घर म रखे, पानी म फिले किताब ल देखके रोवत नोनी अंजली कुडि़यम के वीडियो ल सोशल मीडिया म पत्रकार मुकेश चंद्राकर जी ह शेयर करिन। वीडियो म जानकारी दिस के ‘15-16 अगस्त के दरम्यानी रात म आये बाढ़ म अंजली के घर लगभग जमींदोज होगे। घर ल देखके तो नहीं मगर बांस के बने टोकनी म रखाये अपन फिले पुस्तक ल देखके आदिवासी नोनी के आंखी म आंसू आगे। कोनो आदिवासी लइका म अइसन पुस्तक बर मया पहिली बार देखेव।’ 

18 अगस्त के ये पोस्ट ल बॉलीवुड के बड़का फिल्म स्टार अउ कोरोना काल म गरीब मजदूर मनके मसीहा के रूप म आगू आए सोनू सूद 19 अगस्त के रिट्वीट करके लिखिस के ‘आंसू पोंछ ले बहिनी, किताब भी नवा होही, घर भी नवा होही....’।

छत्तीसगढ़ के आदिवासी नोनी अंजली बर सोनू सूद के मदद के दू आखर ह अतेक असरदार होइस के प्रदेश सरकार के आला अधिकारी हब ले बीजापुर के गांव कोमला पहुंच के आर्थिक मदद कर दीस। मिले आरो के मुताबिक कोमला निवासी अंजली कुड़ियम ल बाढ़ ले टूटे घर ल फेर ले बनवाये खातिर एक लाख एक हजार 9 सौ रूपिया के सहायता राशि के चेक प्रदान करिस। येकर अलावा जिला प्रशासन डहर ले अंजली ल पीएटी के तइयारी खातिर किताब तको देही। 

सोशल मीडिया म खबर चले ले ये नोनी ल तो मदद मिलगे फेर ओमन के का होही जेकर कोनो आरो लेवइया नइये, भगवान जाने। अब तो सोशल मीडिया म वीडियों वायरल होए के बाद मदद के अबड़ अकन हाथ आगू आए हाबे। जोहार पत्रकार साथी मनला जेन मन गरीब आदिवासी मनके आवाज बनके सरकार तक पहुंचत हाबे।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285