Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

सीतामढ़ी, रामगढ़, शिवरीनारायण, तुरतरिया, चंदखुरी, राजिम, सिहावा, जगदलपुर अउ रामाराम ह भगवान राम के निशानी : राम वनगमन पर्यटन परिपथ

रायपुर.19। राम वनगमन पर्यटन परिपथ राज्य सरकार के महत्वाकांक्षी योजना हावय। जेमा वर्तमान म मौजूद धार्मिक स्थल ल जेव के तेव राखत अऊ विकास करे जाही। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अधिकारी मनके बताये मुताबिक शोधपत्र, अभिलेख अउ मान्यता अनुसार भगवान श्री राम ह वनवास काल के 14 वर्षों म अधिकांश समय छत्तीसगढ़ के गजब अकन ठउर म बिताये हाबे। छत्तीसगढ़ शासन कोति ले छत्तीसगढ़ के संस्कृति, परंपरा, ऐतिहासिक अउ प्रचीन मान्यता ले पर्यटक मनला जनाये खातिर राम वनगमन परिपथ के विकास के योजना म बुता करत हाबे। 

राम वनगमन पर्यटन परिपथ ल विकसित करे खातिर पहिली चरण म 9 ठउर के चयन करे गे हावय। जेमा सीतामढ़ी-हरचौका (कोरिया), रामगढ़ (सरगुजा), शिवरीनारायण (जांजगीर-चांपा), तुरतरिया (बलौदाबाजार), चंदखुरी (रायपुर), राजिम (गरियाबंद), सिहावा-सप्तऋषि आश्रम (धमतरी), जगदलपुर (बस्तर) अउ रामाराम (सुकमा) शामिल हावय। 

छत्तीसगढ़ अवइया देश-विदेश के पर्यटक अउ आगन्तुक मनला राम गमन के आरो देवाये खातिर चयनित 9 ठउर म नया मंदिर निर्माण नइ बनाये जाए बल्कि वर्तमान म मौजूद धार्मिक स्थल, मंदिर अउ आन धार्मिक संरचना ल यथावत राखत परिसर अउ आस-पास के स्थान म  पर्यटक मनके सरी सुविधा के विकास करे जाही।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285