Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

राहत इंदौरी के निधन, शायरी म जिंदा रइही दिग्गज शायर राहत साहब

इंदौर.12। शेरो शायरी के दुनिया के एक बड़का नाम डॉ. राहत कुरैशी जेन ल लोगन राहत इंदौरी के नाम ले जानथे अब हमर बीच नइ रिहिस। दिग्गज शायर राहत इंदौरी ह मंगलवार के दिन संझाकुन दुनिया ल अलविदा कह दिस। ओमन के कुछ दिन ले तबीयत बने नइ रिहिस अउ कोरोना रिपोर्ट तको पॉजिटिव रिहिसे। मिले आरो के मुताबिक ओहा इंदौर के श्री अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सैम्स) अस्पताल म भरती रिहिसे जिहा दिल के दौरा परे के सेती पांच बजे आंखरी सांस लिस। 

राहत साहब के मउत के आरो पाके शायरी के दुनिया सन्न रइही, कई मंच साझा करइया कवि, संगीतकार, नेता अउ लेखक मन ओकर शायरी ले ही उनला अपन श्रद्धांजलि दीस। कुमार विश्वास, जावेद अख्तर, गुलजार, अनुपम खेर, अनुराधा पौडवाल, भजन गायक अनूप जलोटा, फरहान अख्तर, जावेद जाफरी, पंकज त्रिपाठी, मनोज बाजपेयी संग अऊ कतको लोगन मन राहत इंदौरी साहब के निधन म दुख जताये हाबे। 

शायरी के अलावा राहत साहब कुछ फिलिम म गाना तको लिखो हावय जइसे मीनाक्षी, करीब, मर्डर आदि म उंकर शब्द-शब्दल अम्मर होगे। 

राहत इंदौरी साहब के किताब- कलंदर, राहत साहब, रूत राहत इंदौरी, दो कदम और राही, मेरे बाद, धूप बहुत है, चॉद पागल है, नाराज, मौदूज उंकर अनमोल कृति आए।

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी

राहत इंदौरी शायरी


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285