Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

गुंडा, बदमाश, हत्यारा विकास दुबे आखिर पुलिस के गोली ले मरगे

यूपी.10। कानपुर के चौबेपुर थाना के गांव बिकरू म गुंडा बदमाश विकास दुबे ल धरे बर पुलिस पहुंचे रिहिस। फेर उहां तो पहिलिच ले घात लगाये विकास अउ ओकर गुंडा मन पुलिस ल ही ढेर कर दिस। येमा डीएसपी सहित आठ पुलिस कर्मी शहीद होगे। ओकर बाद ले ही विकास दुबे फरार रिहिस। ये बीच कानपुर पुलिस लगातार कार्यवाही करत उकर पांच गुंडा मनला मार गिराइस अउ कई झिन के गिरफ्तारी होए हाबे।

छह दिन बाद विकास दुबे के तको मध्यप्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर ले गिरफ्तारी होगे। येला वइसे तो सरेंडर माने जावत हाबे। जेन हिसाब ले वीडियो म दिखत हाबे विकास के हावभाव ओ अपन आप ल स्वयं पकड़वाये के नियत ले ही उज्जैन आये रिहिसे।

विकास दुबे के गिरफ्तारी उज्जैन के महाकाल मंदिर म होना तको संका ले भरे हाबे। काबर के आठ पुलिसकर्मी के मउत के बाद ले ही पुलिस चौ‍कन्ना हाबे। कानपुर ले उज्जैन तक कई पुलिस चौकी अउ जिला बार्डर मिलिस होही, फेर काकरो हाथ नइ लगिस। ओ आदमी कइसे गार्ड के हाथ लगगे। खैर पुलिस के साथ जनता ल तको राहत मिलिस। मध्यप्रदेश म कुछ पूछताछ के बाद विकास दुबे ल कानपुर पुलिस ल सौप दिये गिस। 

फेर बिहनिया एक बड़का चौकाने वाला खबर सुने बर मिलिस के विकास दुबे के एनकाउंटर होगे। खबर हालांकि बड़े रिहिसे फेर ओतका चौकाने वाला तको नइ रिहिस। काबर के अइसन अंदेशा तो सबो ल आगूच ले रिहिसे। येकरे साथ ही कई अन सुलझे सवाल तको विकास के साथ डेर होगे। शहीद पुलिस के परिवार वाले मन विकास के एनकाउंटर ले जरूर संतुष्ट हाबे। कानपुर सहित उत्तप्रदेश म कई अइसन अऊ अपराधी हावय जेन अब अइसन काम करे ले चेतही। यदि पुलिस अइसन नियाव के रद्दा निकाले हावय तव आगू तको नियावसंगत जारी राखय, जबतक की देश अउ प्रदेश म शांति के माहौल नी बन जाए।

कानपुर में शहीद पुलिस


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285