Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

घुरूवा के संग अब तो गोबर के दिन तको बहुरत हाबे, समूह के दीदी मन बनाथे आनी-बानी के जिनिस

बेमेतरा.03। छत्तीसगढ़ के मुखिया श्री भूपेश बघेल के नवाचार योजना मन ह सिरतोन म गांव के अर्थव्यवस्था ल मजबूत करत हाबे। इंसान के काबिलियत उंकर मेहनत ऊपर निर्भर करथे, कोनो ह यदि कम मेहनत अउ कम संसाधन म ज्यादा फायदा मिलय तो एक अलग ही चिनहारी मिलथे। अइसने चिनहारी पाथे टिपनी के जय महामाया महिला स्व सहायता समूह के महिला मन गोबर ले गमला बनाके। 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के दूरदर्शिता ले अब गोबर के उपयोग व्यवसायिक रूप म होवत हाबे। अब गोबर ले छेना नहीं बल्कि दीया, गमला अउ आन जिनिस तको बनत हाबे। गोबर के बने गमला ले अब बेमेतरा जिला के ग्राम पंचायत टिपनी के जय महामाया महिला स्व सहायता समूह ने कमाई तको शुरू होगे। महिला मन अभी तक 1200 गमला बेचके 18 हजार रूपिया के कमाई करे हाबे। एक गमला बनाये म 7 रूपिया के लागत आथे अऊ बेचाथे 15 रूपिया। महिला मन अभी तक 1500 गमला बना डरे हाबे। 

गोबर के गमला बनाये म कच्चा माल के रूप म गोबर, पीली मिट्टी, चूना, भूसा आदि के उपयोग होथे। गोबर के गमला ह टिकाऊ तो होबे करथे अउ प्लास्टिक-पॉलीथिन ले तो बनेच आए। कहू फूटगे तव खातू के तको काम आ जथे। येकर ले एक फायदा अऊ होथे के गोबर के गमला म लगे पौधा ल भुइंया म लगाना हाबे तव गमला ल फोरे के जरूरत नइ परय।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285