Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

राजधानी के सकरी म सुरू होइस छत्तीसगढ़ के सबले बड़का कचरा ले खातू बनाये के संयंत्र

  • 127 करोड़ रूपिया म बने हाबे वृहद ठोस अपशिष्ट प्रसंस्करण संयंत्र
  • ए संयंत्र म रोज 500 टन कचरा के वैज्ञानिक पद्धति ले होही निपटान
  • इहां कचरा ले बनही खातू अउ सीमेंट कारखाना ल मिलही सहायक ईंधन


रायपुर.24। राजधानी रायपुर तिर के गांव सकरी म बने वृहद ठोस अपशिष्ट प्रसंस्करण संयंत्र के आज मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ह अपन निवास कार्यालय ले ई-लोकार्पण करिस। जानबा होवय के रायपुर नगर निगम डहर ले लगे ये संयंत्र म शहर ले निकलइया रोज के कचरा के निपटान अब मशीन ले होही। 127 करोड़ रूपिया म लगे ये परियोजना के लागत 197 करोड़ हावय। इंहा रोज 500 टन कचरा के वैज्ञानिक पद्धति ले निपटान होही। संयंत्र म कचरा ले खातू के साथ ही सीमेंट कारखाना मन खातिर सहायक इंधन तको बनही। अउ संयंत्र म 6 मेगावाट बिजली उत्पादन प्रस्तावित होही। 15 साल के ये परियोजना म नगर निगम रायपुर अउ नई दिल्ली के एम एस डब्ल्यू साल्यूशन लिमिटेड मिलके काम करत रिहिसे।

लोकापर्ण के बाद मुख्यमंत्री ह किहिन के छत्तीसगढ़ भारत के अइसे पहिली राज्य बनगे जिहां शहर के कचरा के शत प्रतिशत निपटान वैज्ञानिक तरीका ले होही। येकर ले स्च्छता मिशन ल अऊ बल मिलही। ओमन आगू छत्तीसगढ़ के नगरीय क्षेत्र म साफ-सफाई करइया लोगन मनके सोर बगरावत सबो कर्मचारी जेन-जेन ये बुता म लगे हाबे सबो ल बधाई अउ शुभकामना दीस। ये मउका म कृषि, जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ.शिवकुमार डहरिया, राज्यसभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा, लोकसभा सांसद सुनील सोनी अउ विधायक सत्यनारायण शर्मा के अलावा रायपुर नगर निगम के महापौर, सभापति संग अधिकारी मन तको उपस्थित रिहिन।

No comments:

Post a Comment

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

Name

Email *

Message *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ