Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

रासायनिक खातु के गुणवत्ता खुदे जांचय किसान : उप संचालक कृषि विभाग

किसानी बुता म सबले माहंगी जिनिस देखे जाए तव खातुच के कीमत जादा हाबे। अइसन म किसान मनला खुदे सावचेत रहे बर परही के खातु म कोनो प्रकार के मिलावट तो नइ होवथाबे। किसान मन भारत सरकार के अधिकृत संस्थान सीएफसीएल के बताये विधी ले मिलावट के पता लगा सकथे। उप संचालक कृषि विभाग के बताये मुताबिक यूरिया म साधारण नमक, एमओपी (प्यूरेट आफ पोटाश), एसएसपी, रॉक फास्फेट, एनपीके मिश्रण, चिकना माटी मिल सकथे। अइसने डीएपी म माटी अउ जिप्सम के गोली, सीएन अउ एसएसपी, एमओपी म रेती अउ साधारण नमक। जिंक सल्फेट म मैग्नीशियम सल्फेट, कॉपर सल्फेट म रेती या नमक, फेरस सल्फेट म बालू या साधारण नमक के सामान्य मिलावट हो सकथे।
बताये मुताबिक शुद्ध यूरिया चमकदार, लगभग समान आकार के दाना वाला, पानी म पूरा घूर जथे, छूये म ठंडा लागथे, गरम राखे म पिघल जथे। येकर जांच ल किसान मन हथेली म थोड़ा पानी लेके 2 मिनट बाद जब हथेली अउ पानी के ताप अनुरूप होही तब 10 ले 15 दाना यूरिया के डालय, शुद्ध यूरिया ठंडक देही यदि ठंडा नइ लागही तव ओमा मिलावट हो सकथे। अइसने एक चम्मच यूरिया घोल म आधा मिलीलीटर बेरियम क्लोराइड मिलावे, शुद्ध यूरिया के घोल स्वच्छ होही। यदि सफेद अवक्षेप आही ताव यूरिया म मिलावटी होही। शुद्ध डीएपी के दाना एकदम गोल नइ होवय, गरम करे म दाना फूल जथे अऊ नइ फूलही तव मिलावट वाला होही। अइसन छोटे-छोटे सावधानी ल धियान म राखे ले किसान मनला अपन माहंगी खातु के मिलावट के जानबा होही।

No comments:

Post a Comment

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

Name

Email *

Message *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ