Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका घरोघर जाके लिही स्वास्थ्य के जानकारी

स्थानीय बुनकर मनके हाथ ले बने लुगरा पहिरही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका 

रायपुर.18। प्रदेश म कोविड-19 के बाढ़त मामला ल देखत अब मुख्यमंत्री ह आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मनके बुता के बड़ई करत किहिन के लॉकडाउन म आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मन घरोघर जाके रेडी टू ईट अउ सूखा राशन बाटे के संग कोरोना संक्रमण के बारे म बने जानकारी बताये हाबे। अब ओमन फेर घरोघर जाके लोगन के स्वास्थ्य के जानकारी लेवय अउ कोनो संदिग्ध मरीज मिले म विभाग ल आरो करय स्वास्थ्य विभाग कोति ले उंकर जांच कराये जाही। ये बात ल मुख्यमंत्री ह अपन निवास कार्यालय म आयोजित महिला, बाल विकास विभाग अउ समाज कल्याण विभाग के समीक्षा बइठक म किहिन। ये मउका म महिला अउ बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंडिया, मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, महिला अउ बाल विकास विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, समाज कल्याण विभाग के सचिव आर. प्रसन्ना अउ संचालक समाज कल्याण पी. दयानंद तको उपस्थित रिहिन।
आगू बइठका म बताइन के पाछू बछर के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वीं जयंती के मउका  म छत्तीसगढ़ म शुरू होए मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के बने असर दिखे हाबे। प्रदेश के 62 हजार 617 लइका कुपोषण ले मुक्त होए हाबे। जानबा होवय के लॉकडाउन काल म प्रदेश के 90 हजार ले आगर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अउ सहायिका मन 24 लाख 38 हजार हितग्राही मनला रेडी टू ईट अउ मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत 3 लाख 62 हजार ले आगर हितग्राही मनला सूखा राशन घरोघर जाके दे हाबे। विश्व स्वास्थ्य संगठन अउ यूनिसेफ ह छत्तीसगढ़ म आंगनबाड़ी कार्यकर्ता डहर ले महिला अउ लइका मनला पोषण आहार पहुंचाये के संगे-संग लोगन ल जागरूक करे के बुता के गजब बड़ई करे हाबे।  
बइठका म यहू बात के आरो मिले हाबे के अब मुख्यमंत्री के निर्देश म आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अउ सहायिका मनला स्थानीय बुनकर मनके हाथ ले तइयार लगुरा दिये जाही। जानबा होवय के हरेक बछर कार्यकर्ता अउ सहायिका मनला दू-दू लुगरा यूनिफार्म के रूप दिये जाथे। श्री बघेल ह ए योजना के माध्यम ले स्थानीय बुनकर मनला रोजगार दिलाये के निर्देश दे हाबे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285