Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

विधानसभा म होइस मिलेट्स लंच, विधायक मन रागी के हलवा, कोदो के भजिया अउ कुटकी के फरा झड़किस

विधानसभा म होइस मिलेट्स लंच, रागी के हलवा, कोदो के भजिया अउ कुटकी के फरा झड़किस विधायक
विधानसभा म होइस मिलेट्स लंच

अंजोर.रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेवता म छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्य मन ह बुधवार के मिलेट्स ले बने व्यंजन के लुत्फ उठाइस। ए मउका म मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ह किहिन के ओमन सबो व्यंजन के बने लागिस खास कर रागी के हलवा। साल 2023 मिलेट साल के रूप म घोसित होइस हावय। पाछु साल हमन 52 हजार क्विंटल कोदो, कुटकी, रागी खरीदी हावन। छत्तीसगढ़ एकमात्र राज्य हावय जेन समर्थन कीमत म कोदो, कुटकी, रागी के खरीदी करत हावय। येकर ले किसान मनला लाभ होइस हावय संग ही उत्पादन तको बढ़े हावय।  मिलेट्स के उपयोग सबो के जादा ले जादा करना चाही काबर के एमे बहुत ले पौष्टिक तत्व होवत हावय।

हाल ही म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह छत्तीसगढ़ के मिलेट्स मिशन के बढ़ई करे हावय अउ ओमन रायपुर म मिलेट्स कैफे खोले के गेलौली करिन हावय, उंकर गेलौली ल देखत मंत्रालय म मिलेट्स कैफे खोल गे हावयं संग ही संभागीय सी-मार्ट केन्द्र म तको मिलेट्स कैफे सुरू करही।

जानबा होवय के छत्तीसगढ़ विधानसभा के सबो सदस्य मन बर मिलेट ले बने व्यंजन के प्रदर्शित करत अउ इही ल लोकप्रिय बनाये के उद्देश्य ले मंझनिया भोज के आयोजन करे गिस।  इही क्रम म बुधवार के मंझनिया के भोजन म कोदो, कुटकी अउ रागी के आने-आने व्यंजन के भोजन तइयार करे गे जेमा मिलेट ले तइयार करे गे छत्तीसगढ़ी व्यंजन तको सामिल रिहिन। 

मिलेट्स व्यंजन : रागी, कोदो, कुटकी के लाजवाब सुवाद भरे मेन्यु-

 मिलेट्स लंच म विधायक बर मिलेट्स ले बने हर रकम ले के व्यंजन उपलब्ध रिहिन। खास बात हावय के सबो व्यंजन म छत्तीसगढ़ी के तड़का रिहिस। मेन्यु म रागी के  सूप, स्टार्टर म रागी के पकोड़ा, कोदो के भजिया, बाजरा अउ गुड़ के पुये, कुटकी के फरा, रागी, कुटकी के चीला, मेन कोर्स म बाजरा के कढ़ी, लाल भाजी, जिमी कांदा, कोदो के वेज पुलाव, ज्वार, बाजरा, रागी के रोटी अउ पराठा के सबो ह सुवाद लिस। येकर संग ही डेजर्ट म रागी, कुटकी के कप केक, रागी के हलवा, अउ कोदो के ड्राई फ्रूट्स खीर।

प्रधानमंत्री ह सराहराइस- 

छत्तीसगढ़ म मिलेट्स मिशन के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह तको हाल ही म सराहना करे हावय। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ह दिल्ली प्रवास के बखत प्रधानमंत्री मोदी के राज्य म संचालित मिलेट्स मिशन के बारे म जानकारी दीस। मुलाकात के बखत मोदी ह रायपुर म मिलेट्स कैफे खोले के सलाह तको दीस। जानबा होवय के राज्य शासन डहर ले 01 दिसंबर 2021 ले मिलेट मिशन सुरू करे गे हावय, जेकर प्रमुख उद्देश्य प्रदेस म मिलेट (कोदो, कुटकी, रागी, ज्वार इत्यादि) के खेती ल बढ़ावा देना, मिलेट के प्रसंस्करण के बढ़ावा देना अउ दैनिक आहार म मिलेट्स के उपयोग के प्रोत्साहित करके कुपोषण दूरिहा करना हावय।

कांकेर म सबले बड़का प्रोसेसिंग यूनिट- 

एकर बर छ.ग राज्य लघु वनोपज संघ के माध्यम ले प्रदेस म कोदो, कुटकी अउ रागी के न्यूनतम कीमत करार करत उपार्जन करे जात हावय। साल 2021-22 म कुल रकम रूपिया  16.03 करोड़ के 52,728 क्विंटल के कोदो, कुटकी अउ रागी के उपार्जन करे गिस। प्रदेस म मिलेट के प्रसंस्करण के बढ़ावा दे के खातिर स्थानीय स्तर म प्रसंस्करण केन्द्र स्थापित करे गे हावयं अउ कांकेर जिला म अवनी आयुर्वेदा डहर ले 5,000 टन क्षमता के मिलेट प्रसंस्करण केन्द्र निजी क्षेत्र म स्थापित करे गे हावय। जेन के एशिया के सबले बड़े मिलेट्स प्रसंस्करण इकाई हावय।

कुपोषण दूरिहा करत मिड डे मील म सामिल मिलेट्स- छत्तीसगढ़ म मिलेट्स के मिड डे मील म तको सामिल करे गे हावय जेकर ले कुपोषण के पूरा रकम ले खतम करे जा सके। स्कूल म लइका के मिड डे मील म मिलेट्स ले बने व्यंजन दिये जात हावयं जेमे मिलेट्स ले बने कुकीज,लड्डू अउ सोया चिक्की सामिल हावयं।

छत्तीसगढ़ देश के सबले पहिली समर्थन कीमत म खरीदी वाला राज्य- 

जानबा होवय के छत्तीसगढ़ देश म पहिली अइसे राज्य हावय जेन समर्थन कीमत म मिलेट्स के खरीदी करत हावय। राज्य के 14 जिला  म संचालित ए मिशन के ले कोदो-कुटकी-रागी के समर्थन कीमत तय करे के संग छत्तीसगढ़ लघु वनोपज सहकारी संघ के ले महिला स्व सहायता समूह के माध्यम ले संग्रहण के बेवस्था तको करे गे हावय। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के दायरे म ये फसल मन ल सामिल करके किसान मन के इनपुट सब्सिडी तको दे जात हावय। उत्पादकता म बढ़ोतरी के खातिर किसान मनला विशेषज्ञ ले परमार्श तको दे जात हावय। येकर खातिर इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मिलेट रिसर्च, हैदराबाद (आईआईएमआर) अउ 14 जिला कलेक्टर मन के बीच एमओयू करे गे हावय। आआईएमआर ह कोदो, कुटकी, रागी के अच्छा क्वालिटी के बीजहा उपलब्ध कराये के संग-साथ सीड बैंक के स्थापना म मदद करे के जिम्मेदारी ले हावय।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

सियानी गोठ

स्‍वामी/ प्रकाशक/ मुद्रक – जयंत साहू
संपादकीय कार्यालय – डूण्डा, सेजबहार रायपुर, छत्‍तीसगढ़ 492015
सिटी कार्यालय - पानी टंकी के सामने, अमलीडीह रायपुर छत्तीसगढ़
वाट्सअप- 9826753304
ई मेल : jayantsahu9@gmail.com
भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285