Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

कलाकार मनके बुता अब थोर-थोर यूट्यूब चैनल म दिखत हाबे, फेर आर्थिक दशा अऊ बिगड़त हाबे

छॉलीवुड.28। कोरोना राई सेती देश म लॉकडाउन के बखत ले सबो के काम बुता बंद रिहिस। फेर अब धीरे-धीरे सबोच के बुता थोर-थोर सुरू होवत हाबे। बुता अटके हाबे त सिरि‍फ कलाकार मनके, न सिनेमाघर खुलत हाबे, न ही कोनो कार्यक्रम चलत हाबे। अइसन म कलाकार मनके तको दुबर दिन आए लगगे हावय। 

सरलग सरकार ल तको फिलिम अउ लोक कलाकार मन अपनो काम सुरू कराये खातिर अरजी करत हाबे। फेर कोरोना राई के सेती सुरू नइ हो पावथे काबर के सबो काम शर्त के आधार म खुलत हाबे के सामाजि‍क-फिजिकल दूरी के साथ मास्क के उपयोग होवे। फेर सिनेमा के बुता म संभव नी हो पावत हाबे। ये दिशा म सरकार के स्वास्थ विभाग अउ सिनेमा जगत के लोगन मनला सुनता ले कुछू तो रद्दा निकाले बर परही। तभे कलाकार मनके जीवनयापन हो पाही।

अनलॉक होए के बाद अब कुछ राहत जरूर मिले हाबे। जेमा कुछ कलाकार मनके गीत के वीडियो अउ शॉट फिलिम यूट्यूब चैनल म देखे बर मिलत हाबे। कुछ बड़का यूट्यूबर मनके बात करे जाए जेमन छत्तीसगढ़ी के वीडियो अपलोड करथे त प्रमुख रूप ले सुंदरानी वीडियो जेकर गीत, वीडियो, फिलिम, कॉमेडी उपनाम के अनेक चैनल हाबे, सरलग वीडियो डलत हावय। अइसने केके केसेट, एवीएम, जी म्यूजिक छत्तीसगढ़, क्रियेटिव विजन, एसएल स्टूाडियो, एसबी म्यूजिक, सीजी गीत संगीत जइसे अनेक अऊ चैनल हाबे। साथी ही सिनेमा जगत अउ लोककला जगत के बड़का कलाकार मनके स्वयं के चैनल तको हाबे जेमा ओमन सरलग वीडियो पोस्ट करत रिथे।

बड़का कलाकार मन कोनो न कोनो उदीम ले कमई कर लेही फेर संसो तो छोटे कलाकार मन ल हाबे। लोकमंच के कलाकार मनला कार्यक्रम होथे तव पइसा मिलथे। जेकर ले गायक, गायिका के साथ ही वादक अउ भाव नृत्य के कलाकार मनके घर चलथे। जब तक के कार्यक्रम सुरू नइ होही हाथ म पइसा कहां ले आही। अइसने दशा फिलिम लाइन के शूटिंग यूनिट म काम करइया मनके तको हाबे। मेकअप मेन, लाईट मेन, डांस मास्टर, फाइट मास्टर, सहायक कलाकार के साथ ही नायक, नायिका मनके हालत तको जादा बने नइये काबर के छॉलीवुड छोटे उद्योग आए इहां कम बजट के फिलिम बनथे। कलाकार मनला तको कमती पारिश्रमिक मिलथे, शौ‍क अउ मनोरंजन के साथ घर खर्चा चलत हाबे भइगे। ककरो कना सेविंग के नाम म फूटे कउड़ी नी होही। अब तो केन्द्र अउ राज्य मनके सरकार ह कलाकार मन बर तको कुछ सोचे।

No comments:

Post a Comment

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

Name

Email *

Message *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ