Home News Contact About
'अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका वेब संस्करण ---- anjore.cg@gmail.com

गंगरेल म बगरत हावय छत्तीसगढ़ी अउ गुजराती लोककला के रंग

Gangrel Bardiha 


छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल डहर ले गंगरेल बांध म बने मोटल बरदिहा लेक व्यू म भारत सरकार के ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत योजना‘ के तहत छत्तीसगढ़ अउ गुजरात के सांस्कृतिक धरोहर, पारम्परिक खान-पान, रीति-रिवाज अउ लोकनृत्य-लोकगायन जइसन कला के लेन-देन चलत हावय। जानकारी के मुताबिक 12 दिसम्बर ले 18 दिसम्बर तक ये कार्यक्रम चलही जेमा छत्तीसगढ़ के कलाकार मनके संगे-संग अहमदाबाद गुजरात ले आए पटेल ग्रुप के 40 लोक कलाकार मन अपन पारंपरिक प्रस्तुति दिही। 

File Photo


छत्तीसगढ़ी लोक कला के रंग बगराये खातिर मोर पिरोहिल, लोकमया, माटी के सिंगार कांकेर, लोकधारा के अलावा राकेश तिवारी, गणेश विश्वकर्मा अउ पन्नालाल ह 12 ले 18 दिसंबर तक प्रस्तुति दिही। छत्तीसगढ़ पर्यटन मण्डल के बताती मुताबिक मोटल घुमे अवइया मन खातिर छत्तीसगढ़ी व्यंजन चीला, फरा, अरसा, मुठिया, पपची जइसन खई खजेनी तको रखे जाही।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जोहार पहुना, मया राखे रहिबे...

किस्सा कहिनी

Contact Us

नाम

ईमेल *

संदेश *

कला-संस्कृति-साहित्य

follow us

T-Twitter | F-Facebook | Y-Youtube | Instagram | Pinterest
महतारी भाखा के उरउती खातिर भारत के समाचार पत्र के पंजीयक कार्यालय नई दिल्ली म पंजीकृत ' अंजोर ' छत्तीसगढ़ी मासिक पत्रिका के anjor.online वेब संस्करण म छत्तीसगढ़ी बुलेटिन, किस्सा-कहानी अउ कला-मनोरंजन संग सोशल मीडिया के चारी, कुछ आन भाखा के अनुवाद समोखे, छत्तीसगढ़ के जन भाखा म जन-जन तक बगराथन। जुड़व ये उदीम - anjore.cg@gmail.com

सियानी गोठ

भारत के समाचारपत्रों के पंजीयक का कार्यालय नई दिल्ली
पंजीकरण संख्या-: CHHCHH/2014/56285